गिर गाय

काठियावाड़ (गुजरात) जंगलो की गीर नसल की गाय

 

geer gaay

गिर गाय गुजरात राज्य के काठियावाड़ (सौराष्ट्र) के दक्षिण में गीर नामक जंगलो में पायी जाती थी। लेकिन आज यह गुजरात के कुछ जिलो सहित देश के कुछ अन्य राज्य जैसे महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्यप्रदेश, कर्नाटक वगेरा।

गिर गाय की शारीरिक विशेषताएं

इनका ललाट (माथा) विशेष उभरा हुआ और चौड़ा होता है, कान लम्बे और लटके हुए होते है तथा सिंग छोटे होते है। गीर नस्ल की गायों का रंग विशेष प्रकार का होता है। इनका मूल रंग सफ़ेद होता है और उसपे विविद रंगो के धब्बे होते है जो सारे शरीर पर फैले रहते है। ये धब्बहे कई गायों में बड़े बड़े और कई गायों में अत्यंत छोटे होते है। ये मध्यम से लेकर बड़े आकर तक पाई जाती हैं। इनका औसत वज़न 385 किलो ग्राम और इनकी ऊंचाई 130 सेंटी मीटर होती है। इस प्रजाति की गाय आकार में बड़ी होती है।

  • गीर गाय की पीठ मजबूत, सीधी और समचौरस होती है।
  • गीर गाय  के कूल्हे की हड्डिया प्राय अधिक उभरी हुई होती है। पंच लम्बी होती है।
  • शुद्ध गीर नश्न की गाय प्राय एक रंग की नै होती। वे काफी दूध देती है।
  • गीर बैल मजबूत होते है, यद्यपी वे कुछ सुस्त और धीमे होते है।
  • उनसे बहुदा गाडी खींचने का काम लिया जाता है। गीर गौ वंश नियत समय पर बच्चे देती है।
  • इनकी दो बियाने में औसतन 12 से 14 महीने का अंतर होता है और ये गाय एक बियाने में औसतन 6500 से 8000 लीटर तक दूध देती है।
  • इस नस्ल की “ रामो ” नामक गौने, जो कांदिवली, मुंबई की “ गोरक्षा मंडली की थी, सादे 5 से सात साल की अवस्था में 444 दिनों के एक बियाने में 6000 लीटर दूध दिया।
  • इसी मंडल की “ प्राग कबीर ” नामक गौने 399 दिन के पहले बियाने में 4269 लीटर दूध दिया तथा बंगलोरे इंस्टिट्यूट की 26 नंबर की गाय ने 280 दिनों के बियाने में 8132 लीटर दूध दिया।

हमारे भारत देश में गाय को गौ माता कह कर पुकारा जाता है। कहा जाता है कि भारत में वैदिक काल से ही गाय का विशेष महत्व रहा है। आरंभ में आदान प्रदान एवं विनिमय के लिए गाय का उपयोग किया जाता था तथा मनुष्य समृद्धि की गणना गौ संख्या से की जाती थी। हिंदू लोग इनकी पूजा करतें हैं। गाय को बहुत पवित्र माना जाता है और गौ हत्या महापापों में माना जाता है।

गाय एक बहुत ही महत्वपूर्ण जीव है। यह सर्वत्र पाई जाती है। गाय का दूध ही नहीं गोमूत्र भी बहुत लाभदायक होता है। जिससे किसी भी तरह की बीमारी से बचा जा सकता है।

गिर गाय की कीमत

गीर गाय का दाम कैसे तय करे ?

  • गीर गाय की कीमत का महत्तम आधार दूध उत्पादन क्षमता पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए – मान लीजिए अगर 1 गाय एक दिन में 1 लीटर दूध देती है तो उसका दाम Rs 3,000 से ले कर 5,000 तक होगा।
गीर गाय का प्रतिदिन दूध देने की मात्रागीर गाय की कीमत
10 लीटरRs. 30,000 to 50,000
15 लीटरRs. 50,000 to 70,000
20 लीटरRs. 70,000 to 90,000

अब आपको थोड़ा बहुत अंदाजा आ गया होगा कि गिर गाय की कीमत कैसे तय करते है। ध्यान रहे की गीर गाय कीमत केवल दूध देने की क्षमता पर ही निर्भर नही करता परंतु,

  • गीर गाय की उम्र
  • गीर गाय ने कितने बच्चे दिये है
  • गीर गाय के माता-पिता के वंश के दूध का रिकार्ड
  • गीर गाय कैन से मौसम मे खरीद करते है
  • गीर गाय बेचने वाले की आर्थिक परिस्थिती
  • गीर गाय की शारीरिक सुंदरता

गीर गाय पालन का प्रशिक्षण


क्या आप खोज रहे हैं ?

 

गिर गाय प्रति दिन कितना दूध देती है?

गिर गाय की किमत कैसे तैय करे?

गिर गाय का बाजार कहाँ लगता है या गिर गाय कहा से खरीदे?

इससे पहले कि आप गिर गाय खरीदे,  सावधानी रखने योग्य बाते

गिर गाय डेयरी फार्म के लिए योग्य है?

गिर गाय बेचनोवासे से किन किन बाते मे सावधानी रखनी चाहिए?

और भी बहुत कुछ …

ये सभी जानकारी प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए सूचनो का पालन करें:

1: अपने सेल फोन में यह नंबर सेव करे:  8279780541
2: WhatsApp पर हमें संदेश छोड़ें: “Cp Gir Info” या “गिर गाय जानकारी
3: उपरोक्त संदेश प्राप्त करने के बाद आपको समय समय पर अलग अलग प्रकार की गौ पानल से जूडी जानकारीया भेंजी जायेगी।

धन्यवाद!!!

Read more